Breaking News
Home / 💁 माँ Shayari / Meri Maa (मेरी माँ) Hindi Shayari

Meri Maa (मेरी माँ) Hindi Shayari

Meri Maa (मेरी माँ) Hindi Shayariपल्लू के छोर में रूपये बाँध के रखती थी
एक छोटा सा Atm मेरी माँ भी रखती थी l
😔😔😔

Chalti Firti Aankhon Se Azaan Dehi Hai,
Maine Jannat Toh Nahi Dekhi Hai Maa Dekhi Hai.
चलती फिरती आँखों से अज़ाँ देखी है,
मैंने जन्नत तो नहीं देखी है माँ देखी है।

Tere Kadmon Mein Yeh Saara Jahan Hoga Ek Din,
Maa Ke Hothhon Pe Tabassum Ko Sajaane Wale.
तेरे क़दमों में ये सारा जहां होगा एक दिन,
माँ के होठों पे तबस्सुम को सजाने वाले।

Soona Soona Sa Mujhe Yeh Ghar Lagta hai,
Maa Jab Nahi Hoti Toh Bahut Darr Lagta Hai.
सूना-सूना सा मुझे ये घर लगता है,
माँ जब नहीं होती तो बहुत डर लगता है।

Maine Kal Shab Chahton Ki Sab Kitaabein Faad Di,
Sirf Ek Kagaz Par Lafze Maa Rahne Diya.
मैंने कल शब चाहतों की सब किताबें फाड़ दी,
सिर्फ एक कागज़ पर लफ्जे माँ रहने दिया।

Bhookh Toh Ek Roti Se Bhi Mit Jaati Maa,
Agar Thali Ki Wo Roti Tere Haath Ki Hoti.
भूख तो एक रोटी से भी मिट जाती माँ,
अगर थाली की वो रोटी तेरे हाथ की होती।

About Manish Mehta

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Recommended
Love is seasoned feelings of heart and needs to express.…